Gulzar Poetry || वो दिल नीलाम हो गया जिस पर कभी हुकुमत तुम्हारी थी …|| Ishq-E-Syahi



वो मन बना चुके थे हमसे दूर जाने का और हमें लगा कि हमें मनाना नहीं आता और उन्हें लिखते वक़्त महसूस होता है अक्सर मुझे …
Gulzar Poetry || वो दिल नीलाम हो गया जिस पर कभी हुकुमत तुम्हारी थी …|| Ishq-E-Syahi
#Gulzar #Poetry #व #दल #नलम #ह #गय #जस #पर #कभ #हकमत #तमहर #थ #IshqESyahi
वो मन बना चुके थे हमसे दूर जाने का और हमें लगा कि हमें मनाना नहीं आता और उन्हें लिखते वक़्त महसूस होता है अक्सर मुझे …

Youtube