एक कब्रिस्तान के बाहर लगे बोर्ड पर लिखा था –

“मंजिल तो मेरी यही थी.बस जिंदगी गुजर गई,यहाँ तक आते आते  ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *