उसने दर्द इतना दिया कि सहा ना गया,

उसकी आदत सी थी इसलिए रहा न गया,

आज भी रोती हूं उसे दूर देख के,

लेकिन दर्द देने वाले से यह कहा ना गया