दिल भी न जाने किस किस तरह ठगता चला गया…
कोई अच्छा लगा और बस लगता चला गया…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *