dil ko khushi ke saath

Shair, shayari, Dil Pe Bst shayari, Chand shayairi,

कुछ तो हवा भी सर्द थी कुछ था तिरा ख़याल भी
दिल को ख़ुशी के साथ साथ होता रहा मलाल भी
बात वो आधी रात की रात वो पूरे चाँद की
चाँद भी ऐन चैत का उस पे तिरा जमाल भी…

परवीन शाकिर