dil me meetha sa koi bas jaata hai

dil me meetha sa koi bas jaata hai, dil shyari page

चाय भी कड़वी लगने लगती है
जब दिल में कोई मीठा सा बस जाता है