दोस्तों से दुश्मनी और दुश्मनों से दोस्ती …
बे-मुरव्वत बेवफ़ा बे-रहम ये क्या ढंग है …
हातिम, शैख़ जहूरूद्दीन