इन्तेज़ारी Intezari Lyrics in Hindi from Article 15 (2019)

Intezari Lyrics in Hindi. इन्तेज़ारी song from Article 15 2019. This Movie Actors/Actress are Ayushmann Khurrana, Isha Talwar. Singer of Intezari is Armaan Malik. This Song Lyrics Writer(s) is Shakeel Azmi, While the Music is Produced by Anurag Saikia

Songs Details :

Song Name/Song Title : Intezari
Movie Name / Album Name :: Article 15 2019
Starring: Ayushmann Khurrana, Isha Talwar
Singer(s) : Armaan Malik
Music Director(s) : Anurag Saikia
Lyrics Written By/Lyricist : Shakeel Azmi
Music Label/Music Level Company Zee Music Company

Intezari Lyrics in Hindi Article 15 2019

Intezari Lyrics in Hindi :

आ ना आ भी जा ना इन्तेज़ारी है तेरी
ले जा जो रिश्तों की रेज़गारी है तेरी
वो जो हम रोये साथ थे
भीगे दिन और रात थे
खारे खारे पानी की कहानी वो लेजा ना
आ ना आ भी जा ना इन्तेज़ारी है तेरी
ले जा जो रिश्तों की रेज़गारी है तेरी

दाँत काटे, संग बाँटे
खट्टे मीठे का मज़ा है
ज़बां पे अब भी ताज़ा साथीया
चाँद देखा था जो हमने
चार आँखों से कभी
कैसे देखूँ उसको तन्हा साथीया
दाँत काटे, संग बाँटे
खट्टे मीठे का मज़ा है
ज़बां पे अब भी ताज़ा साथीया
चाँद देखा था जो हमने
चार आँखों से कभी
कैसे देखूँ उसको तन्हा साथीया

हो कभी यूँही ताकना तुझे, यूँही देखना
कभी बैठे बैठे यूँही तुझे सोचना
वो पल क़रार के, वो जो थे लम्हे प्यार के
उन्हें मेरे ख़्वाबों से ख़यालों से ले जा ना

आ ना आ भी जा ना इन्तेज़ारी है तेरी
ले जा जो रिश्तों की रेज़गारी है तेरी

कभी रूठना वो तेरा किसी बात पर
कभी हँसके ताली देना मेरे हाथ पे
थोड़े शिकवे कुछ गिले
वो जो थे अपने सिलसिले
टूटे हुवे वादे वो इरादे वो ले जा ना

आ ना आ भी जा ना इन्तेज़ारी है तेरी
ले जा जो रिश्तों की रेज़गारी है तेरी
दाँत काटे, संग बाँटे
खट्टे मीठे का मज़ा है
ज़बां पे अब भी ताज़ा साथीया
चाँद देखा था जो हमने
चार आँखों से कभी
कैसे देखूँ उसको तन्हा साथीया
दाँत काटे, संग बाँटे
खट्टे मीठे का मज़ा है
ज़बां पे अब भी ताज़ा साथीया
चाँद देखा था जो हमने
चार आँखों से कभी
कैसे देखूँ उसको तन्हा साथीया

Intezari Lyrics in English :

Aa na.. aa bhi jaa na intezari hai teri
Le ja.. jo rishton ki rezgaari hai teri
Woh jo hum roye saath thhe
Bheege din aur raat thhe
Khaare khaare paani ki kahani woh leja na

Aa na.. aa bhi jaa na intezari hai teri
Le ja.. jo rishton ki rezgaari hai teri

Daant kaate, sang baante
Khatte meethe ka maza hai
Zabaan pe ab bhi taaza saathiya
Chand dekha tha jo humne
Chaar aankhon se kabhi
Kaise dekhun usko tanha saathiya (x2)

Ho.. kabhi yunhi takna tujhe, yunhi dekhna
Kabhi baithe baithe yunhi tujhe sochna
Wo pal qaraar ke, woh jo the lamhe pyaar ke
Unhe mere khwabon se khayalon se le jaa na

Aa na.. aa bhi jaa na intezari hai teri
Le ja.. jo rishton ki rezgaari hai teri

Kabhi roothna woh tera kisi baat par
Kabhi hanske taali dena mere haath pe
Thode shikve kuch gile
Woh jo thhe apne silsile
Toote huve waade woh iraade woh le jaa na

Aa na.. aa bhi jaa na intezari hai teri
Le ja.. jo rishton ki rezgaari hai teri

Daant kaate, sang baante
Khatte meethe ka mazaa hai
Zubaan pe ab bhi taaza saathiya
Chaand dekha tha jo humne
Chaar aankhon se kabhi
Kaise dekhun usko tanha saathiya (x2)

Other songs Lyrics from the movie Article 15 2019

Watch the Watch the Song Music Video

Leave a Comment