Love Shayari, Isme Pal kar hi Mohabbat Jawa hoti Hai

Love Shayari, Isme Pal kar hi Mohabbat Jawa hoti Hai

दर्द की जब कभी इन्तहा होती हैं

दवा की जरुरत फिर कहाँ होती हैं

तन्हाई, बेचैनी और बस कुछ आहें

इनमे पल कर ही मोहब्बत जवां होती हैं