ए यादों के मुसाफ़िर
कभी न हमने भूला तुम्हे
याद के बाद, याद तेरी ही आयी,
कभी न हमने भूला तुम्हे