dil ko chu jane wali shayari on Shayari Page

जा के कोई कह दे, शोलों से चिंगारी से

फूल इस बार खिले हैं बड़ी तैयारी से

बादशाहों से भी फेके हुए सिक्के ना लिए

हमने खैरात भी मांगी है तो खुद्दारी से

.

.