Khawab shayari, Ek khawab dekhne ki aarju

एक ख़्वाब देखने की आरज़ू रही
इसी लिए तमाम उम्र सो न पाए हम
~शहरयार