Par Bewafa ho gaya

उम्र भर जिसका रहा इ्न्तज़ार
वह मुक्कदर से मिला तो ….
पर बेवफ़ा हो गया
तिस पर हमारी बेहायी देखो
कि उसकी खता को भी हमने
अता मान पलको पर सजा लिया
~ गौरव