शोला उल्फत का भड़का के Shola Ulfat Ka Bhadka Ke Lyrics in Hindi from Aurat

Shola Ulfat Ka Bhadka Ke Lyrics in Hindi. शोला उल्फत का भड़का के song from Aurat. This Movie Actors/Actress are Rajesh Khanna, Feroz Khan, Padmini, Pran. Singer of Shola Ulfat Ka Bhadka Ke is Asha Bhosle, Mohammed Rafi. This Song Lyrics Writers are are Shakeel Badayuni Music is Produced by Ravi Shankar Sharma (Ravi)

Songs Details :

Song Name/Song Title : Shola Ulfat Ka Bhadka Ke
Album / Movie : Aurat
Starring: Rajesh Khanna, Feroz Khan, Padmini, Pran
Singer(s) : Asha Bhosle, Mohammed Rafi
Music Director : Ravi Shankar Sharma (Ravi)
Lyrics by : Shakeel Badayuni
Music Label : Saregama

Shola Ulfat Ka Bhadka Ke Lyrics in Hindi Aurat

Shola Ulfat Ka Bhadka Ke Lyrics in Hindi :

शोला उल्फत का भड़का के
मेरे दिल में आग लगाके
न तरसाइए
हम तो कब से हुए तुम्हारे
चुप थे लाज शर्म के मारे
जी फरमाईये
शोला उल्फत का भड़का के
मेरे दिल में आग लगाके
न तरसाइए
हम तो कब से हुए तुम्हारे
चुप थे लाज शर्म के मारे
जी फरमाईये

दीवाना आ गया रहो में आपकी
जीने का शौक है बाहों में आपकी
दीवाना आ गया रहो में आपकी
जीने का शौक है बाहों में आपकी
दिन है बहार के मौसम है प्यार का
कहिये इरादा क्या है आखिर सर्कार का
आखिर सर्कार का
शोला उल्फत का भड़का के
मेरे दिल में आग लगाके
न तरसाइए
हम तो कब से हुए तुम्हारे
चुप थे लाज शर्म के मारे
जी फरमाईये

उल्फत का बोझ यूँ दिल पर न डालिये
जालिम सबब है खुद को संभालिए
उल्फत का बोझ यूँ दिल पर न डालिये
जालिम सबब है खुद को संभालिए
सब कुछ ये प्यार की मस्ती का जोश है
नजरों में आप है फिर किसको होश है
फिर किसको होश है
शोला उल्फत का भड़का के
मेरे दिल में आग लगाके
न तरसाइए
हम तो कब से हुए तुम्हारे
चुप थे लाज शर्म के मारे
जी फरमाईये.

Shola Ulfat Ka Bhadka Ke Lyrics in English :

Shola ulfat ka bhadka ke
Mere dil mein aag lagake
Na tarsayiye
Hum to kab se hue tumhare
Chup the laz sharam ke mare
Ji farmayiye
Shola ulfat ka bhadka ke
Mere dil mein aag lagake
Na tarsayiye
Hum to kab se hue tumhare
Chup the laz sharam ke mare
Ji farmayiye

Deewana aa gaya raho mein aapki
Jine ka shok hai baho mein aapki
Deewana aa gaya raho mein aapki
Jine ka shok hai baho mein aapki
Din hai bahar ke mausam hai pyar ka
Kahiye irada kya hai aakhir sarkar ka
Aakhir sarkar ka
Shola ulfat ka bhadka ke
Mere dil me aag lagake
Na tarsayiye
Hum to kab se hue tumhare
Chup the laz sharam ke mare
Ji farmayiye

Ulfat ka bojh yun dil par na daliye
Jalim sabab hai khud ko sambhaliye
Ulfat ka bojh yun dil par na daliye
Jalim sabab hai khud ko sambhaliye
Sab kuch ye pyar ki masti ka josh hai
Najro me aap hai fir kisko hosh hai
Fir kisko hosh hai
Shola ulfat ka bhadka ke
Mere dil mein aag lagake
Na tarsayiye
Hum to kab se hue tumhare
Chup the laz sharam ke mare
Ji farmayiye.

Other songs Lyrics from the movie Aurat

https://youtu.be/S5RygGSzq-Y

Leave a Comment