Yaad Shayari, Tumhi ko Yaad kiya karte hain

तुमसे ही रूठ कर

तुम्ही को याद करते हैं

हमे तो ठीक से

नाराज़ होना भी नहीं आता